शुक्रवार, 15 अक्तूबर 2010

भगती चचा की बोतल

8 टिप्‍पणियां:

  1. सुशील जी भगती चचा क दगड खूब पिलै आपन...सुंदर सुशील जी

    उत्तर देंहटाएं
  2. bahut badiya , aapku kavita ko suniki myar bhi mood bun gayaee, aaj laganu ko jee bonu chaa.

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुशील जी पीणा कु भगती चचा क दगड आप भी छयाइ क्या। वाह क्या खूब वर्णन करि आपन दारु पीणा का बाद क्या होंदु.. बधाई रचना का वास्ता ....

    उत्तर देंहटाएं
  4. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. आप सभी कू धन्यवाद यीं रचना तैं पसंद करण खुणैं

    उत्तर देंहटाएं
  6. Sushil ji bilkul sahi boli aapan..bhagti chacha jan bahut si log chan hamar pahad ma daaru ka baan sarkari naukari chodi dend chan...
    bhagti chacha ki aap biti ku sundar varnan.

    उत्तर देंहटाएं