सोमवार, 27 दिसंबर 2010

कौथिक दुबईखाल की


सयुक्त अरब ईमिरात मे रह रहे प्रवासी उत्तराखन्डियो (उत्तरान्चली एशोसियसन आप ईमिरात ग्रुप) द्वारा नये साल को कौथिक के रुप मे दुबई राज्य मे हर साल हर्शॊउलाष के साथ मनाया जाता है...दुबई (दुबईखाल) के इस कौथिक मे आप सभी को आमन्त्रण हेतू ये कुछ पन्क्तिया सादर:-

२८ गति पौश की या
७ तारिक जनवरी..!
होन्दू हर साल थौल
बल दुबईखाल की..!!
कौथिगेर आला सभी
आली बेटी-ब्वारी भी
दान-सयाण नचला मन्डाण
ढोल-दमो क दगडी..!!
घौर बटी अया महिमानो की
करदा सतकार जी
झुमैद्या दुबईखाल तै आज
अपण सुर-ताल सी..!!
छोडी ईर्श्या, दुश्मन्यात
हम सभी छवा भयात
कौथिग क ये दिन मा
ह्वे जौला हम अभी साथ..!!
अपण घौर-गांव सी दूर
खुदेन्दू पराण भी..
खुद बिसरै द्योला आज
अपणो सी मिली की..!
२८ गति पौश की या
७ तारिक जनवरी..!
होन्दू हर साल थौल
बल दुबईखाल की..!!

27 December 2010 @ 7:10 AM
(अपनी बोलि अर अपणी भाषा क दग्डी प्रेम करल्या त अपणी संस्कृति क दगड जुडना मा आसानी होली)

3 टिप्‍पणियां:

  1. २८ गति पौश की या
    ७ तारिक जनवरी..!
    होन्दू हर साल थौल
    बल दुबईखाल की..!!
    ...sunhare ruphali yaad dila dee aapne... bahut utsah rahta tha jab bachpan mein kauthik jaane ke liye ham bahut saare log ekathe hokar damaal machte the..
    Dubai mein yah aayojan apne sankriti ke ekta ka prateek hai... post padhkar bahut khushi huyee...aabhar

    उत्तर देंहटाएं
  2. धन्यबाद कविता जी..
    हां बिल्कुल सही कहा आपने ओ दिन भी कैसे थे..हमारे यंहा १० गते बैशाख को मां चामुन्डा देवी का मेला होता है.. ईस दिन के लिये नये नये कपडे बनाये जाते थे....कितने खुश होते थे हम जब हम मेले मे जाते थे.. कौथिक थौल मेला अब बहुत कम देखने को मिलेन्गे,, अगर होता भी होगा तो बहुत कम लोग देखने को मिलेन्गे.. यू.ई.ई ग्रुप का इक प्रयास अपनी सन्स्क्रति को बचाने हेतू..

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुंदर विनोद भुल्ला... एक सुंदर प्रयास सब लोग करणा छन अर हम सबी लुखो ते बिना भेदभाव, बिना स्वार्थ/नाम, अर बिना ईष्या क साथ उत्तरांचल की स्ंस्कृति अर वे कि मिठास ते बरकारार रखण प्वाडली.. तभी क्वी मकसद कामयाब हून्दू... जय हो

    उत्तर देंहटाएं